Jijaji Chhat Par koi hai Written Update Episode 4

Jijaji Chhat Par Koi Hai Written Update-Episode 4

Jijaji Chhat Par koi hai Written Update Episode 4 , jijaji chhat par hai new episode,jijaji chhat par hai written updates

 

जल्दीराम और नन्हे टेरेस पे बैठ के पार्टी कर रहे होते है तभी उन्हें यद् आता है की आज शुक्रवार है और बंद कमरे का शैतान फिर से पर्ची भेज के कोई डिमांड करने वाला है।  सभी लोग एक दूसरे से टाइम पूछने लगते है तभी बंद कमरे से गाने की आवाज आने लगती है

जल्दीराम ,जीजा और सीपी डरते डरते उस कमरे के सामने जाते है और थोड़ी ही देर मैं एक पर्ची बहार आती है जिसमे एक पहेली लिखी हुई होती है।

जिसे इन लोगो को सोल्वे करना होता है।

दूसरे दिन सुबह नाश्ते के समय सीपी उस पर्ची को खोल के पढ़ती है उसमे जो पहेली लिखी हुई होती है वो ऐसी है।

बिना सर पैर का नमूना ,पेट मैं  इसके आलू भुना

हर चौराहे पैर मिल जाता , मैं  भी सुबह को चाय से खाता 

 

सभी सोचने लगते है और अंत मैं  जीजा को इसका जवाब मिल जाता है समोसा।

फिर कौन जायेगा शैतान को देने तो गुलजार।

गुलजार डरते डरते समोसे को शैतान [बंद कमरे ] के कमरे के सामने रखता है और  भाग के दूर जा के चुप जाते है थोड़ी ही देर मैं  क्या देखता है की समोसा गायब , वो  दर के भाग जाता है।

दूसरी तरफ बंटी तितली के साथ फ़्लर्ट करने लगता है। उसी वक़्त जल्दीराम का दोस्त खुशीराम उसकी दुकान पे उससे मिलने आता है दोनों मैं  बात चित होती है और जल्दीराम उसे कहता है की मेरी सीपी के लिए कोई अच्छा सा लड़का देख के बता।

ये बात बोलते ही बंद कमरे की भूतनी को अचानक से गुस्से मैं  दिखती है

उसी समय जीजा पानी का बिल ले के जल्दीराम के पास आता है और पानी का आधे से ज्यादा बिल जल्दीराम से मांगता है जो जल्दीराम देने से मन कर देता है

उसके बाद उनके घर मैं  पानी को लेकर अदालत लगती है और दोनों एक दूसरे पे आरोप लगते है की वो ज्यादा पानी बर्बाद करते है।

उसी समय गुस्से मैं  सीपी जीजा की पिटाई लगा देती है.

इस झगडे का रिजल्ट यह निकलता है की पानी दोनों फैमिलीज़ पानी बर्बाद करती है तो दोनों आधा आधा भरेंगे।

उसके बाद सीपी खुशीराम के घर जाती है और उससे कहती है की मई शादी शुदा हूँ इसलिए आप मेरे लिए लड़का मत ढूढ़ना और ये बात पपा को भी मत बताना।

कल के एपिसोड मई क्या होगा वो आगे पता चलेगा।

Read More

Add a Comment

Your email address will not be published.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.